October 24, 2017 9:46 am

‘‘टाउणे मामे री फांडा’’ से गूंजा पेछा व त्राम्बली

Nukkad Natakकुल्लू (हिमाचल न्यूज़) प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को आम लोगों तथा पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने के उद्देश्य से सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा चलाए जा रहे विशेष प्रचार अभियान के अंतर्गत कुल्लू और बंजार विधानसभा क्षेत्र के दूरदराज गांवों में गीत-संगीत और नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा हैं इस अभियान के दौरान मन्नत कला मंच के कलाकारों ने आज कुल्लू विधानसभा क्षेत्र के चनसारी पंचायत के पेछा व तलोगी पंचायत के त्राम्बली में फोक मीडिया कार्यक्रमों के माध्यम से सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाया। मंच के प्रभारी नवनीत भारद्वाज ने बताया कि आज मंच के कलाकारों में खूब राम, रमेश, मानचंद, अमित, प्रदीप, तीर्थराम, काजल, चम्पा, कांता, कुशाल द्वारा लोकगीतों, समूहगीत, ‘‘चार साल के कार्यकाल में प्रगति बेमिसाल’’ व नाटक ”टाउणे मामे री फांडा’’ के माध्यम से बेहतरीन प्रस्तुति देते हुए    सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के बारे विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम के दौरान चनसारी पंचायत के प्रधान सुभाष चंद, तलोगी पंचायत के प्रधान टिकम राम, पंचायत सचिव महिला एवं युवक मण्डलों के सदस्यों व अन्य ग्रामीणों ने भी बड़ी संख्या में भाग लिया और सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारियां हासिल की। जिला जन सम्पर्क अधिकारी कुल्लू शेर सिंह ने सरकार की योजनाओं व कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए बताया कि सामाजिक सुरक्षा पैंशन योजना के तहत विभिन्न कल्याण योजनाओं के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए वार्षिक आय सीमा को 20 हजार रूपये से बढ़ाकर 35 हजार रूपये किया गया है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन को 450 से बढ़ाकर 700 रूपये किया गया हैं। जिससे कुल्लू जिला में 26 हजार 455 पात्र सामाजिक सुरक्षा पेंशन धारकों को लाभ मिला है। इस दौरान कलामंच के कलाकारों ने गीत-संगीत और नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से प्रदेश सरकार ने इंदिरा व राजीव आवास योजना के तहत मकान निर्माण हेतू दिये जाने वाले अनुदान को अब 48,500 रू से बढ़ाकर 1,30,000 रू कर दिया हंै। राज्य सरकार द्वारा समाज में छूआछूत की कुप्रथा को दूर करने के उदेश्य से अन्र्तजातिय विवाह को प्रोत्साहित किया जा रहा हैं जिसके तहत अन्र्तजातिय विवाह करने पर 50,000/रू की प्रोत्साहन राशि दी जा रही हैं। सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत दी जा रही पेंशनों को भी बढ़ाया गया हैं, जिन वृद्वों की आयु 60 साल से अधिक है, विधवा, एकल नारी एवं अक्षम व्यक्ति जिनकी वार्षिक आय 35,000 रू से कम है को अब 700/- रू प्रतिमाह व 80 साल से अधिक आयुवर्ग के वृद्व जनों व 45 साल से कम आयु की विधवा माताओं की पेंशन बढ़ाकर 1250/- रू प्रतिमाह की गई हैं, इसके तहत राज्य में 3,87,000 पात्र व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन दी जा रही है।

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *