December 11, 2017 6:37 pm

पैंतरा लाहुल के नेता जी का

kelyong
kelyong

लाहौल स्पीति के एक बड़े नेता जी आजकल ज़िले के प्रशासनिक अधिकारियों से पूछते फिर रहे हैं कि प्रशासन वनाधिकार कानून (2006) को लागू करवाने में इतना रूचि क्यों दिखा रही है.वो जानते हैं कि आगामी चुनावों में यह बहुत बड़ा मुद्दा होगा और उन्हें इसका नुकसान ही होगा I पिछले दिनों इनके द्वारा ज़ारी अपील में नेता जी वर्तमान विधायक पर आरोप लगा रहे हैं कि उन्होने FRA को लागू करने के लिए कुछ नहीं किया लेकिन हकीकत तो यह भी है कि प्रमुख विपक्षी नेता होते हुए भी वह अपनी हाथों कि मेहंदी सुखने का इंतजार करते रहे ! पिछले साल म्याड़ घाटी के लोगों के आग्रह पर FRA (2006) की जानकारी देने के लिए मैं जब वहाँ पहुँचा तो पता चला कि नेता जी लोगों को धमका रहें हैं कि वो सुदर्शन के लिये बैठकों का इंतजाम न करें. यह वही नेता जी हैं ज़िन्होने ज़सरत सड़क के निर्माण कार्य को रोकने के लिए भी पूरी ताकत झोंक दी थी I इनका मकसद स्पष्ट है कि ना कुछ करो न किसी को कुछ करने दो l इन का जन हित से कोई सरोकार नहीं है यह सिर्फ कुर्सी -कुर्सी खेलना जानते हैं l लेकिन यह जो पब्लिक है ना यह सब जानती है !!!!

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *