December 11, 2017 6:49 pm

शिक्षा, अधोसंरचना व समावेशी विकास में हिमाचल सर्वश्रेष्ठ

हिमाचल न्यूज़ प्रातः कालीन बुलेटिन (शुक्रवार, 17 नवम्बर, 2017)

शिक्षा, अधोसंरचना व समावेशी विकास में हिमाचल सर्वश्रेष्ठ
हिमाचल प्रदेश को इंडिया टुडे ग्रुप द्वारा शिक्षा, अधोसंरचना और समावेशी विकास क्षेत्र में बड़े राज्यों की श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ राज्य पुरस्कार प्रदान किया गया है। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने को नई दिल्ली में इंडिया टुडे ग्रुप द्वारा आयोजित इंडिया टुडे स्टेट ऑफ दि स्टेटस कानक्लेव-2017 के अवसर पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से यह पुरस्कार प्राप्त किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर ‘दि पोलिटिक्स ऑफ डिवेलपमेंटः माई टर्न अराउंड स्टोरी’ विषय पर संबोधन दिया। उन्होंने प्रदेश के गठन से लेकर अब तक की विकास यात्रा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज हिमाचल प्रदेश विकास का आदर्श राज्य बनकर उभरा है। उन्होंने पंडित जवाहर लाल नेहरू तथा डा. वाईएस परमार द्वारा हिमाचल प्रदेश की विकास की सुदृढ़ नींव रखने के लिए आभार व्यक्त किया।

अफवाहें फैला रही कांग्रेस, 18 दिसंबर को होगा दूध का दूध, पानी का पानी: धूमल
नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने कहा है कि कांग्रेस चुनाव नतीजों को लेकर व्यर्थ व आधारहीन अफवाहें फैलाने का प्रयास कर रही है, जबकि दूध का दूध व पानी का पानी 18 दिसंबर को होगा। शिमला पहुंचने पर मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगों का कांग्रेस सरकार व पुलिस से विश्वास उठ चुका था। यही वजह है कि हर घटना की सीबीआई जांच की मांग हो रही थी। जानमाल व सम्मान की सुरक्षा करने में वीरभद्र सरकार असफल साबित हुई है। प्रदेश में कानून व्यवस्था चरमरा चुकी है। विकास कार्य ठप पड़े हैं। इसी वजह से प्रदेश के लोगों ने भाजपा को वोट दिया है। अठारह दिसंबर को भाजपा 60 से भी ज्यादा सीटें हासिल करेगी।

ऊना भाजपा के पांच नेताओं को निकालने की सिफारिश
ऊना विस क्षेत्र के अंतर्गत चुनावों के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने के चलते ऊना मंडल भाजपा ने पांच कार्यकर्ताओं के खिलाफ निष्कासन का प्रस्ताव पारित किया है। विधानसभा चुनावों के बाद मंडल की पहली समीक्षा बैठक में अधिकतर कार्यकर्ता पार्टी के खिलाफ कार्य करने वालों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने के पक्ष में थे। कार्यकर्ताओं का कहना था कि कोई भी व्यक्ति पार्टी से बड़ा नहीं होता।

एनजीटी ने शिमला अवैध भवन रेगुलर करने व वन क्षेत्र में निर्माण पर लगाई रोक
नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल एनजीटी (एनजीटी) ने पहाड़ों की रानी शिमला के ग्रीन, कोर व वन क्षेत्र में किए गए अवैध निर्माणों को नियमित करने और नए निर्माण पर रोक लगा दी है। ट्रिब्यूनल ने ऐसे अभी तक हुए अवैध निर्माण को गिराने के लिए तीन सप्ताह का समय दिया है। वहीं ग्रीन, कोर व वन क्षेत्र से बाहर हुए अवैध निर्माण के केवल वही मामले नियमित किए जाएंगे, जिनके लिए 13 नवंबर 2017 से पहले आवेदन आए हैं। इसके साथ ही प्रदेश के दूसरे हिस्सों में किसी भी तरह के अवैध निर्माण को नियमित करने पर ट्रिब्यूनल में रोक लगा दी है।

प्रेस-डे : ‘मीडिया के समक्ष चुनौतियां’ पर चर्चा
प्रेस दिवस के अवसर पर शिमला में ‘मीडिया के समक्ष चुनौतियां’ कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकारों ने कहा कि मीडिया की स्वतंत्रता के लिए लोकतंत्र का सशक्त होना अति आवश्यक है। मीडिया को लोकतंत्र का चौथा महत्त्वपूर्ण स्तंभ माना जाता है, परंतु इसकी पूर्ण स्वतंत्रता तभी कायम रह सकती है, जब लोकतंत्र के बाकी तीन स्तंभ सशक्त होंगे। विश्वसनीयता हर क्षेत्र की जरूरत है, लेकिन मीडिया तथा न्यायपालिका में विश्वसनीयता अति आवश्यक है और इसके अभाव में समाज में अराजकता उत्पन्न होना स्वभाविक है। विश्वसनीयता का कम होना, अखबार बंद होने से अधिक खतरनाक है। यह आवश्यक है कि मीडिया सामाजिक सरोकारों को सही परिपेक्ष्य में उजागर करे, ताकि विश्वसनीयता बनी रहे।

जनजातीय मंत्रालय पहुंचा का हाटी समुदाय का मामला
जिला सिरमौर के गिरिपार क्षेत्र को जनजातीय घोषित करने के लिए एक कामयाबी हासिल हुई है, जिससे हाटी के लोगों को अब जनजातीय होने की उम्मीद जगी है। सिरमौर जिला के गिरिपार क्षेत्र के करीब तीन लाख लोगों से पिछले छह दशक से जुड़ा हाटी समुदाय का मामला एक बार फिर सुर्खियों में है। हाटी समुदाय को उम्मीद की एक किरण दिल्ली से नजर आई है। भारत सरकार के रजिस्ट्रार जनरल ऑफ बैकवर्ड क्लासेज के कार्यालय से हाटी समुदाय का मामला केंद्र सरकार के जनजातीय मंत्रालय को भेजे जाने का समाचार है। रजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया से हाटी समुदाय के बारे में एक ताजी रिपोर्ट मिनिस्ट्री ऑफ ट्राइबल अफेयर को भेजी गई है। अब इस मामले में केंद्र सरकार का ट्राइबल मंत्रालय मंथन करेगा कि हाटी समुदाय की पिछले करीब 60 सालों से चली आ रही पिछड़ा क्षेत्र की मांग के बारे में आगामी निर्णय क्या लिया जाना है।

जीएसटी हिमाचल में जरूरी 178 वस्तुओं की कीमतें घटी
हिमाचल में जीएसटी की नई दरें लागू होने 178 वस्तुओं पर जीएसटी दर को 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी किया गया था, वहीं रेस्टोरेंट में खाने पर जीएसटी को पांच फीसदी तक लाया गया है। जीएसटी की नई दरें लागू करने के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है। शैंपू, टूथपेस्ट, शेविंग क्रीम, आफ्टर शेव लोशन, शूज पॉलिश, चॉकलेट, इलेक्ट्रिक गुड्स, सेनेटरी फिटिंग्स, डिटर्जेंट्स व मारबल इत्यादि को भी अब 18 फीसदी के स्लैब में लाया गया है

राज्य स्तरीय पुरस्कारों को 31 दिसंबर तक भरे नामांकन
हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य स्तरीय पुरस्कारों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इन पुरस्कारों में हिमाचल गौरव पुरस्कार, प्रेरणा स्रोत सम्मान तथा सिविल सेवा पुरस्कार शामिल हैं, जो हिमाचल दिवस के अवसर पर 15 अप्रैल, 2018 को प्रदान किए जाएंगे। नामांकन अथवा संस्तुतियां प्राप्त होने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर, 2017 है। नामांकन में सत्यापित की गई उत्कृष्ट एवं असाधारण उपलब्धियां अथवा सेवाएं, जो पात्र व्यक्ति अथवा संस्था की संस्तुति को न्यायसंगत सिद्ध करती हो, का उल्लेख होना आवश्यक है।

1668 पदों की भर्ती प्रक्रिया पर संकट
कर्मचारी चयन आयोग की एक दर्जन विभागों के लिए चल रही भर्ती प्रक्रिया संकट में आ गई है। चयन आयोग ने पहले से चल रही भर्ती प्रक्रिया को जारी रखने की केंद्रीय चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी। एक महीना पहले भेजे गए इस प्रस्ताव पर केंद्रीय चुनाव आयोग ने अनुमति नहीं दी है। इस कारण प्रदेश भर में 1668 पदों की भर्ती प्रक्रिया पर संकट खड़ा हो गया है। चुनाव आयोग से अनुमति न मिलने के कारण कर्मचारी चयन आयोग किसी भी भर्ती का परिणाम 20 दिसंबर तक घोषित नहीं कर पाएगा। हालांकि अधिकतर पोस्ट कोड की भर्ती के लिए अभी स्किल टेस्ट का परिणाम आना बाकी है। कर्मचारी चयन आयोग का कहना है कि अगले दो सप्ताह में अधिकतर पोस्ट कोड संख्या के तहत स्किल टेस्ट का परिणाम तैयार हो जाएगा। इसके चलते इन परिणामों की घोषणा दिसंबर माह के पहले सप्ताह तक संभव है।

आठ फार्मा कंपनियों की दवा फेल
केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की जांच में हिमाचल के आठ दवा उद्योगों में निर्मित दवाएं सब-स्टैंडर्ड पाई गई हैं। ये दवाएं बद्दी, झाड़माजरी , संसारपुर टैरेस, परवाणू, पावंटा साहिब, नालागढ़ के उद्योगों में निर्मित हुई हैं। इसके अलावा देश भर की 23 अन्य दवा कंपनियों में निर्मित दवाएं भी गुणवत्ता मानको पर खरा नहीं उतर सकी हैं। इन दवाओं में कैंसर, मलेरिया, बैकटीरियल इन्फेंक्शन, पेट के रोगों के उपचार, रक्त विकार, ब्लड प्रेशर, थायरायड, घुटनों के दर्द के उपचार सहित एंटी बायोटिक दवाएं शामिल हैं । यह दवाएं वजन में असमानता, विघटन, स्टेरलिटी, एक्सट्रेक्टेबल वॉल्यूम ,पार्टिकुलेट मैटर जैसे मानकों की पड़ताल में फेल हुई हैं।

क्रिकेट एसोसिएशन प्रदेश में खोलेगा क्रिकेट के 70 सब-सेंटर
हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन जल्द ही हिमाचल प्रदेश में क्रिकेट के 70 सब-सेंटर स्थापित करेगा, सब-सेंटर खोलने के पीछे मंशा यही है कि गांव में छिपी प्रतिभाओं को निखारा जाएगा। यहीं नहीं, अब हर जिला में कम से कम तीन से चार सेंटर क्रिकेट के होंगे। इसमें दो से तीन क्रिकेट कोच व अन्य मैन पावरों के साथ क्रिकेट मैदान और क्रिकेट प्रेमियों को बेहतरीन प्रशिक्षण दिया जाएगा।

प्रदेश के 13 डिग्री कालेज नैक से मान्यता प्राप्त करेंगे
प्रदेश में 136 से अधिक कालेजों में से 13 डिग्री कालेज नैक से मान्यता प्राप्त करेंगे। नैक को भेजे गए कालेजों के आवेदनों पर अब इन सभी कालेजों का निरीक्षण कर इनका स्तर और गुणवत्ता का आकलन करने के बाद नैक ग्रेड तैयार करेगा। सभी कालेजों की रैंकिंग की प्रक्रिया भी सात प्वाइंट ग्रेड पर ही तय होगी। ऐसे में आवेदन करने वाले कालेजों को बेहतर रैंक पाने के लिए तैयारी भी अधिक करनी होगी। नए ग्रेडिंग सिस्टम पर संस्थानों के लिए सबसे बेहतर ग्रेड ए प्लस प्लस ही नैक की ओर से तय किया गया है। सी ग्रेड सबसे कम और डी ग्रेड हासिल करने वाले संस्थान को नॉन एक्रिडेटिड की श्रेणी में नैक की ओर से सेवन प्वाइंट ग्रेडिंग के तहत किया जा रहा है।

शिमला में विशेषज्ञों ने दिए सुझाव : ईको टूरिज्म में दिलाएं रोजगार
वन विभाग एवं जीआईजैड द्वारा आयोजित ईको सर्विस पर आधारित दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला गुरुवार को संपन्न हो गई। दो दिवसीय कार्यशाला में देश के विभिन्न क्षेत्रों से आए वानिकी से जुडे़ अधिकारियों को अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों से वानिकी प्रबंधन में चर्चा करने का अवसर मिला। विभिन्न देशों से आए विशेषज्ञों ने वहां प्रचलित वन प्रबंधन द्वारा ईको सर्विसेज (पारिस्थितिक वन सेवाओं) के बारे में बताया। हिमालय क्षेत्र में ऊंचे-ऊंचे पर्वत हैं, यहां विश्व की उच्चतम ऊंचाई की चोटियां हैं। यहां ईको टूरिज्म की अपार संभावनाएं हैं। विशेषज्ञों ने सुझाया कि ईको टूरिज्म को विस्तृत करना चाहिए, जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिल पाए व उनकी जंगलों पर निर्भरता कम की जाए। हिमालयन क्षेत्र की बात करते हुए विशेषज्ञों ने कहा कि यहां रॉक क्लाइंबिंग, माउटेनियरिंग की अपार क्षमता है, जिसका दोहन करना चाहिए। कार्यशाला में जर्मनी, अमरीका तथा अन्य पड़ोसी देशों भूटान व नेपाल से आए विशेषज्ञों ने हिस्सा लिया।

कोटखाई प्रकरण : पूर्व एसपी भी गिरफ्तार
कोटखाई प्रकरण और पुलिस हिरासत में आरोपी सूरज की हत्या के मामले में अब शिमला के एस पी डी. डब्ल्यू. नेगी को गिरफ्तार किया गया है। नेगी को वीरवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें पांच दिन के रिमांड के लिए सीबीआई को सौंप दिया गया। नेगी को सीबीआई की टीम ने शिमला स्थित अपने कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया था। इस दौरान उनको गिरफ्तार कर लिया गया। कोटखाई में छात्रा के साथ गैंगरेप व हत्या के दौरान नेगी शिमला में एसपी थे। नेगी ने इस मामले में शुरुआती जांच की थी और वह खुद दो दिनों तक कोटखाई में रहे थे। पुलिस द्वारा इस मामले में गिरफ्तार एक आरोपी सूरज की कोटखाई थाने में हत्या के दौरान भी वह एसपी शिमला थे। थाने में सूरज की हत्या को लेकर उसके साथी राजू पर केस बनाया गया, जबकि सीबीआई जांच में पुलिस की थर्ड डिग्री से ही सूरज मौत होने की बात सामने आई थी। यही वजह है कि इस मामले में सीबीआई ने विशेष जांच दल के आठ सदस्यों को भी 29 अगस्त को गिरफ्तार किया था।

पुलिस अफसर की गिरफ्तारी से भाजपा के आरोप पुख्ता : धूमल
धूमल ने कहा कि कोटखाई प्रकरण में भाजपा पहले से ही सरकारी कारगुजारी पर सवाल उठा रही थी। गुरुवार को शिमला के पुलिस अधिकारी की गिरफ्तारी के मामले ने भाजपा के इन आरोपों को और पुख्ता किया है। चुनाव में भी भाजपा ने इसे मुद्दा बनाया था।

रोजगार समाचार: सिक्योरिटी गार्ड को भर्ती 19 से
इंडक्टिव सिक्योरिटी फंक्शन प्राइवेट लिमिटेड सुंदरनगर सिक्योरिटी गार्ड के लिए 360 पदों की भर्ती करने जा रही है। कंपनी द्वारा खुली भर्ती का आयोजन 19 नवंबर को भारती विद्यापीठ स्कूल बैजनाथ, 26 नवंबर को सीनियर सेकेंडरी मॉडल इंस्टीच्यूट स्कूल देवधार टिहरा, तीन दिसंबर को न्यू विम पब्लिक स्कूल धर्मपुर मंडी और नौ दिसंबर को ग्रीन वैली पब्लिक स्कूल जाहू हमीरपुर में किया जा रहा है। इच्छुक अभ्यर्थी अधिक जानकारी के लिए फोन नंबर 01907-262918 व 78072-90519 पर संपर्क कर सकते हैं

मौसम समाचार : शीतलहर की चपेट में हिमाचल, पांच डिग्री लुढ़का पारा
हिमाचल के मैदानी व मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में एक-दो स्थानों पर बारिश और ऊची पर्वत शृंखलाओं पर फिर से हुए हल्के हिमपात से राज्य में कड़ाके की ठंड ने पाव पसार लिए हैं। राज्य के डलहौजी, ऊना, अंब व नगरोटा सूरियां में हुई बारिश से तापमान कई डिग्री सेल्सियस नीचे लुढ़क गया है, जिसके चलते अब दिन के समय भी ठंड पड़ने लगी है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के तहत समूचे राज्य में 19 नवंबर तक मौसम खराब बना रहेगा। इस दौरान जहां मैदानी व मध्य पर्वतीय क्षेत्रों में एक-दो स्थानों पर बारिश होगी। वहीं,उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश के साथ बर्फबारी की संभावनाएं जताई जा रही है। जबकि विभाग के राज्य में 20 से 22 नवंबर तक मौसम शुष्क रहने का पूर्वानुमान लगाया है।

कल तेवर दिखाएगा मौसम
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के तहत 18 नवंबर को राज्य में मौसम कड़े तेवर दिखाएगा। विभाग ने 18 नवंबर को उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में कई स्थानों पर भारी बारिश व बर्फबारी की उम्मीदें जताई हैं।

आज का विचार : अतीत में हुई किसी बुरी घटना के कारण जो लोग जिंदगी में आगे बढ़ना भूल जाते हैं, वैसे लोग अपने हाथों से वो भी खो देते हैं, जो चीजें भविष्य उन्हें देने वाली होती है।

▫▫▫▫▫▫▫▫
प्रस्तुति: हिमाचल न्यूज़ टीम

Hedar Himachal News

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *